HomeदेशTungnath Valley के प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण पर्यटक स्थलों का जिलाधिकारी ने...

Tungnath Valley के प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण पर्यटक स्थलों का जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण

ऊखीमठ से वरिष्ठ पत्रकार लक्ष्मण सिंह नेगी की रिपोर्ट –

ऊखीमठ! जिलाधिकारी मनुज गोयल ने Tungnath Valley के विभिन्न यात्रा पडा़वो, सुरम्य मखमली बुग्यालों व प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण पर्यटक स्थलों का निरीक्षण करने के साथ ही स्थानीय व्यापारियों से सुझाव साझा करते हुए कहा कि विश्व में तुंगनाथ घाटी को धरती के स्वर्ग के रूप में जाना जाता है तथा Tungnath Valley में साहसिक खेलों व पर्यटन की अपार सम्भावनाये है इसलिए तुंगनाथ घाटी में साहसिक खेलों व पर्यटन व्यवसाय को बढ़ावा देने के सामूहिक प्रयास किये जायेंगे!

यह भी पढ़ें :केदारनाथ वन्य जीव अभ्यारण्य इको सेंसिटिव जोन परामर्श गोष्ठी का किया गया आयोजन

जिलाधिकारी मनुज गोयल ने Tungnath Valley के मक्कूबैण्ड, पवधार, दुगलविटटा, बनियाकुण्ड यात्रा पड़ावों सहित तुंगनाथ घाटी के सुरम्य मखमली बुग्यालों व पर्यटक स्थलों का स्थलीय निरीक्षण करते हुए स्थानीय व्यापारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि बुग्यालों की सुन्दरता में यदि किसी प्रकार की छेडखानी हुई तो उसे बर्दास्त नही किया जायेगा!

उन्होंने स्थानीय व्यापारियों से तुंगनाथ घाटी (Tungnath Valley)में साहसिक खेलों व पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सुझाव मांगते हुए कहा कि तुंगनाथ घाटी को प्रकृति ने अपने वैभवो का भरपूर दुलार दिया है इसलिए तुंगनाथ घाटी के सुरम्य मखमली बुग्यालों की सुन्दरता विश्व विख्यात है!

यह भी पढ़ें :National service Scheme के तहत किया गया स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन

उन्होंने कहा कि यदि तुंगनाथ घाटी(Tungnath Valley) में जैव विविधता पार्को का निर्माण किया जाता है तो तुंगनाथ घाटी के पर्यटन व्यवसाय में खासा इजाफा हो सकता है! जिलाधिकारी मनुज गोयल ने व्यापारियों से सुझाव मांगते हुए कहा कि तुंगनाथ घाटी आने वाले सैलानियों को यदि सभी सुविधायें मिलती है तो तुंगनाथ घाटी आने वाले सैलानियों की संख्या में प्रति वर्ष निरन्तर वृद्धि होना स्वाभाविक ही है!

स्थानीय व्यापारियों की मांग पर जिलाधिकारी ने एस डी एम परमानन्द को माह में दो दिन निर्धारित शुल्क दर कूड़ा निस्तारण के लिए नगर निकायों के वाहन उपलब्ध कराने के निर्देश दिये!

यह भी पढ़ें :बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के तहत 120 छात्राओं की हुई Career counseling

जिलाधिकारी मनुज गोयल ने ग्रामीणों क्षेत्रों में होम स्टे योजना देने के उद्देश्य से युवाओं को प्रशिक्षण देने के लिए मक्कूबैण्ड गाँव निवासी रजनीकांत मैठाणी को कार्य योजना तैयार करने को कहा तथा उषाडा निवासी दिनेश बजवाल को राजस्व ग्रामों में साहसिक खेलों प्रशिक्षण देने के लिए रुपरेखा तैयार करने को कहा!

यह भी पढ़ें :जल संरक्षण एवं जल संवर्द्धन के लिए ग्रामीणों ने तैयार किए ताल,दूर हुई पानी की समस्या

जिलाधिकारी मनुज गोयल ने राजस्व उप निरीक्षक सतीश भटट् ड्रोन कैमरे से तुंगनाथ घाटी (Tungnath Valley)सूखसूरत स्थलों चयनित कर रिर्पोट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये! इस मौके प्रधान विजयपाल सिंह नेगी, कुवर सिंह बजवाल, अरविन्द रावत, वन पंचायत सरपंच देवेन्द्र बजवाल, मोहन सिंह राणा, मोहन प्रसाद मैठाणी, बीरेन्द्र भण्डारी, राजस्व निरीक्षक जयकृत सिंह रावत सहित व्यापारी, अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments