Homeदेशअब प्रतिदिन भगवान तुंगनाथ की तर्ज पर भगवान ओकारेश्वर का भी होगा...

अब प्रतिदिन भगवान तुंगनाथ की तर्ज पर भगवान ओकारेश्वर का भी होगा गाय के दुग्ध से अभिषेक,पढ़ें पूरी ख़बर

ऊखीमठ से वरिष्ठ पत्रकार लक्ष्मण सिंह नेगी की रिपोर्ट –

ऊखीमठ! केदारनाथ समाज सेवा के अध्यक्ष राजशेखर लिंग की प्रेरणा व वैस्ट बम्बई निवासी राजीव अठले व उनकी पत्नी राधिका राजीव अठले के प्रयासों से अब प्रतिदिन भगवान तुंगनाथ की तर्ज पर भगवान ओकारेश्वर का भी गाय के दुग्ध से अभिषेक होगा! तथा भगवान केदारनाथ के कपाट तथा द्वितीय केदार भगवान मदमहेश्वर के कपाट बन्द होने के बाद शीतकाल में भगवान केदारनाथ व भगवान मदमहेश्वर का भी दुग्ध से अभिषेक किया जायेगा!

भगवान ओकारेश्वर को प्रतिदिन दुग्ध का अभिषेक करने के लिए केदारनाथ समाज सेवा की प्रेरणा से राजीव अठले व उनकी पत्नी राधिका राजीव अठले द्वारा स्थानीय महिला पशुपालक को एक दुधारू गाय पूजा – अर्चना के बाद संकल्प कर सौप दी गयी है तथा महिला द्वारा प्रतिदिन बह्मबेला पर गाय का दुग्ध ओकारेश्वर मन्दिर के प्रधान पुजारी व वेदपाठियो को सौपा जायेगा तथा उनके द्वारा प्रतिदिन भगवान ओकारेश्वर का गाय के दुग्ध से अभिषेक किया जायेगा!

जानकारी देते हुए केदारनाथ समाज सेवा अध्यक्ष राजशेखर लिंग ने बताया कि भगवान ओकारेश्वर का स्थानीय जनता द्वारा समय – समय पर दुग्ध से अभिषेक तो किया जाता है मगर ग्रामीणों की व्यस्त होने के कारण प्रतिदिन दिन भगवान ओकारेश्वर का दुग्ध अभिषेक नहीं हो पाता है इसलिए वैस्ट बम्बई निवासी राजीव अठले व उनकी पत्नी राधिका राजीव अठले द्वारा स्थानीय महिला पशुपालक को एक दुधारू गाय सौप दी गयी है तथा ओकारेश्वर मन्दिर के प्रधान पुजारी शिव शंकर लिंग, टी गंगाधर लिंग व वेदपाठी विश्व मोहन जमलोकी द्वारा विधि विधान से गाय की पूजा – अर्चना कर संकल्प दिया गया है!

उन्होंने बताया कि गाय के संकल्प के बाद महिला पशुपालक सीमा बिष्ट द्वारा गाय का लालन – पालन अपने घर में किया जा रहा है तथा प्रतिदिन बह्म बेला पर गाय का दुग्ध भगवान ओकारेश्वर के अभिषेक के लिए ओकारेश्वर मन्दिर पहुंचाया जा रहा है तथा प्रधान पुजारी द्वारा प्रतिदिन भगवान ओकारेश्वर का गाय के दुग्ध से अभिषेक किया जा रहा है!

उन्होंने बताया कि भगवान केदारनाथ तथा भगवान मदमहेश्वर के कपाट बन्द होने के बाद शीतकाल में भगवान केदारनाथ व भगवान मदमहेश्वर का भी दुग्ध अभिषेक किया जायेगा तथा भविष्य में ग्रीष्म काल में मदमहेश्वर धाम में भी एक गाय दान देने पर विचार किया जा रहा है जिससे भगवान मदमहेश्वर का भी प्रतिदिन गाय के दुग्ध से अभिषेक हो सके!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments